राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता में बच्चों ने अपनी भावनाओं और कल्पना को अभिव्यक्त किया

भारतीय बाल कल्याण परिषद नई दिल्ली द्वारा प्रति वर्ष  राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है. प्रदेश में इसके क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा जिलेवार प्रतियोगिता आयोजित की जाती है. रायपुर जिले में यह प्रतियोगिता 15 अक्टूबर को जे.आर. दानी कन्या विद्यालय में आयोजित हुई. उद्धघाटन समारोह  दीप प्रज्वलन व माता सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पूजा करके किया गया जिसमे मुख्य अतिथि बृजमोहन अग्रवाल विधायक रायपुर दक्षिण , विशेष अतिथि प्रमोद दुबे सभापति नगर निगम रायपुर उपस्थित थे.

मुख्य अतिथि बृजमोहन अग्रवाल ने अपने उदबोधन में चित्रकला प्रतियोगिता में भाग लेने वाले बच्चों से कहा कि चित्रकला अपनी भावनाओं और कल्पना को अभिव्यक्त करने का एक माध्यम है. कलाकार द्वारा प्रदर्शित चित्र से बड़ी बड़ी बातों को समझाया जा सकता है. कार्टून भी इसका एक अंग है जो बातें हम बहुत सारे शब्दों में नही कह सकते है वो एक छोटे से कार्टून में कही जा सकती है. विधायक अग्रवाल ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम के जन्मदिन के अवसर पर आयोजित राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता की सराहना करते हुए कहा कि डॉ कलाम ने कहा था कि सपने वो नही जो हम सोते हुए देखते है सपने वो होते है जो हमे सोने नही देते.

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि नगर निगम के सभापति प्रमोद दुबे ने भी अपने संबोधन के दरम्यान बच्चों से एक प्रश्न पुछा की आज का दिन क्यो विशेष है ? प्रश्न पर एक छात्रा द्वार डॉ कलाम के जन्मदिन बताने पर उन्हें तत्काल 1100 रुपये का नगद पुरस्कार देकर सभी को आनंदित कर दिये. दुबे ने अपने उदबोधन में राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित करने के लिए परिषद की सराहना करते हुए कहा कि बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिये  प्रदेश स्तर पर इस आयोजन के लिये पूरी टीम को बधाई एवं आगे भी ऐसे रचनात्मक कार्य के लिए शुभकामनाएं . दिप प्रज्वलन के पश्चात अतिथियों का स्वागत किया गया . इस अवसर पर चित्रकला प्रतियोगिता में विशेष सहयोग के लिए  दानी कन्या शाला के प्राचार्य डॉ विजय खंडेलवाल का शाल ,श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया. कार्यक्रम को डॉ विजय खंडेलवाल , परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष चन्द्रेश शाह ने भी संबोधित किया आभार प्रदर्शन कार्यक्रम संयोजक राजेन्द्र निगम ने एवं मंच संचालन श्रीमती सुनीता सिसोदिया  ने किया . चित्रकला प्रतियोगिता के संयोजक राजेंद्र निगम ने बताया की प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए लगभग 550 बच्चों ने हिस्सा लिया विभिन्न समूहों के बच्चों को अनेक विषयों पर अपना पसंदीदा विषय का चुनाव करते हुए किसी भी सामग्री से चित्रकला बनाने हेतु 2 घंटे का समय (दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक) दिया गया जो कि  4 वर्ग में आयोजित किया गया था. हरा समूह 5 से 9 वर्ष,  सफेद समूह 10 से 16 वर्ष ,   विशेष समूह ( दिव्यांग बच्चों के लिए ) पिला समूह 5 से 10 वर्ष  लाल समूह 11 से 18 वर्ष. सभी समूह के प्रथम , द्वितीय एवं तृतीय आने वाले बच्चो को 26 नवम्बर को आयोजित होने वाले बाल महोत्सव के अवसर पर  पुरस्कृत किया जाएगा. प्रदेश स्तर पर चयनित श्रेष्ठ प्रविष्टि को नई दिल्ली भेजा जाएगा जहाँ पर राष्ट्रीय स्तर पर देश भर से आए चित्रकला में से सर्वश्रेष्ठ कृति का चयन किया जाएगा .

कार्यक्रम में परिषद की उपाध्यक्ष डॉ कमल वर्मा , महासचिव डॉ अशोक त्रिपाठी , कोषाध्यक्ष जे पी साबू , संयुक्त सचिव श्रीमती इंदिरा जैन, प्रकाश अग्रवाल , कार्यकारिणी सदस्य संजीव बसन्त हुददार , सह संयोजक श्रीमती सुनीता चंसोरिया, श्रीमती गुरमीत धनई, श्रीअरविन्द ओझा, सुभाष बुंदेला, श्रीमती प्रीति निगम, निर्णायक मंडल के सदस्य के अतिरिक्त दानी स्कूल के शिक्षक गण और परिषद के कर्मचारी उपस्थित हुए.

Related Articles

Back to top button