स्वतंत्र संस्थान पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट के रूप में संचालित होगा DKS सरकारी अस्पताल

रायपुर का दाउ कल्याण सिंह पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीस्च्यूट एंड रिसर्च सेंटर-DKS को लेकर बड़ा फैसला हुआ है. संस्थान की प्रबंधकारिणी समिति की सामान्य सभा ने मंगलवार को इसको स्वतंत्र PGI के तौर पर संचालित करने का प्रस्ताव पारित किया है. अब इसके लिए यहां डॉक्टरों, नर्सिंग स्टाफ और अन्य कर्मचारियों की भर्ती का अलग से सेटअप बनाया जाएगा.

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की अध्यक्षता में अस्पताल के बोर्ड रूम में प्रबंधकारिणी समिति की बैठक हुई. इसमें DKS को एक स्वतंत्र संस्थान के तौर पर विकसित कर संचालित करने का प्रस्ताव पारित हुआ. तय हुआ कि चिकित्सा शिक्षकों के स्थायित्व के लिए आदर्श सेवा भर्ती नियम 2019 के तहत स्वशासी समिति के माध्यम से भर्ती की जाए. DKS में राज्य सरकार और स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय की फेलोशिप एवं सर्टिफिकेट कोर्स की जो मान्यता प्राप्त हैं, उसको शुरू करने की भी अनुमति दे दी गई. अस्पताल में पार्किसन्स और मूवमेंट डिसऑडर्स केन्द्र एवं डीप ब्रेनस्टिम्युलेशन सर्जरी शुरू करने के लिए जरूरी उपकरणों की खरीदी पर चर्चा हुई.

तय हुआ कि छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन से एनओसी लेकर इसपर कार्यवाही की जाए. संस्थान में आर्गन ट्रॉसप्लांट केंद्र को नियमानुसार शुरू करने के लिए निर्देशित किया गया. इसके साथ ही ट्रॉसप्लांट के लिए उपकरणों की खरीदी स्वशासी समिति के फंड से करने के लिए स्वीकृति प्रदान की गई. संस्थान में बने बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी विभाग में स्वशासी समिति के फंड से स्किन लैब को शुरू करने का भी फैसला हुआ है. बैठक में विधायक सत्यनारायण शर्मा, कुलदीप जुनेजा, स्वास्थ्य सचिव आर. प्रसन्ना, DKS के संचालक संचालक सी.आर. प्रसन्ना, CGMSC के संचालक अभिजीत सिंह, रायपुर मेडिकल कॉलेज की अधिष्ठाता डॉ. तृप्ति नागरिया, अस्पताल अधीक्षक एवं एकेडेमिक इंचार्ज डॉ. शिप्रा शर्मा आदि शामिल हुए.

Related Articles

Back to top button