धान का सही दाम, समय पर टोकन मिलने से किसान खुश

छत्तीसगढ़ सरकार की किसान हितैषी योजनाओं एवं फैसलों से अन्न उपजाने वाले किसानो में प्रसन्नता व्याप्त है। जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर किसानों से 1 दिसम्बर 2021 से 35 उपार्जन केंद्रों में धान की खरीदी की जा रही है। चालू सीजन में धान खरीदी कार्य के लिए  कुछ ही कार्यदिवस शेष है।
  जिले के अधिकांश सभी पंजीकृत किसानों ने अपना धान विक्रय कर लिया है एवं शेष किसानों हेतु धान बेचने के लिए टोकन की व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है। धान खरीदी के आखिरी दिनों में भी किसानों के हितों का जिला प्रशासन द्वारा पूरा ख्याल रखा जा रहा है एवं धान विक्रय हेतु आने वाले किसानों को प्राथमिकता से टोकन प्रदान किया जा रहा है। प्रशासन के द्वारा किए गए उक्त व्यवस्था से जिले के किसान खुश हैं। किसानों का कहना है कि उन्हें किसी प्रकार की समस्या नहीं हो रही है। साथ ही फसलों का उचित दाम मिलने से उन्हें संबल मिल रहा है।


इसी कड़ी में दुलदुला विकासखण्ड के करडेगा धान खरीदी केन्द्र में ग्राम डोडीआरा के किसान श्री ओम नारायण यादव धान बेचने पहुँचे हैं। उन्होंने बताया की करडेगा में उपार्जन केन्द्र खुल जाने से इस क्षेत्र के किसान बहुत खुष हैं। अब उन्हें धान बेचने के लिए दूर नही जाना पड़ता। जिससे उन्हें धान बेचने में बहुत सुविधा हो रही है।  किसान ने बताया कि डोडीआरा से करडेगा मात्र 05 किलोमीटर की दूरी पर हैं। इससे पहले उन्हें दुलदुला धान केन्द्र में धान बेचने लाना पड़ता था जो कि 25 से 30 किलोमीटर दूर है। इससे उनका समय और पैसा अधिक व्यय होता था। अब घर के नजदीक ही धान खरीदी केंद्र खुल जाने से उन्हें राहत मिली है। ओम यादव ने बताया कि खरीदी के आखिरी दिनों में भी केंद्र में धान बेचने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई। टोकन प्राप्त करने, धान को केंद्र तक लाने, बारदाना उपलब्धता, तौलाई  सहित अन्य कार्य आसानी से हो गया।

इसी प्रकार जषपुर के गम्हरिया धान खरीदी में धान बेचने आए जुरतेला का कृषक अमशू सिंह ने बताया कि वे किसानों की धान खरीदी के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किये गए व्यवस्था से बहुत खुश है। उन्होंने बताया कि वे अपना 55 क्विंटल धान बेचने आए थे। जिसका उन्हें तुरंत  टोकन मिल गया। केंद्र में धान लाते ही उनके  धान की तौलाई  हो गयी।

बगीचा विकासखण्ड के कुर्राेग निवासी मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि किसानों की मांग और जरूरत को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों की सहुलियत के लिए धान खरीदी की तिथि एक सप्ताह और बढ़ाते हुए 7 फरवरी तक धान खरीदी करने का सराहनीय निर्णय लिया है। इस कारण मैं अपना धान बेच पाया हूं। उन्होंने बताया कि केंद्र में उन्हें धान बेचने में किसी प्रकार की समस्या नही हुई। केंद्र में बड़ी ही सरलता से उन्होंने अपना धान विक्रय किया है।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button