महिला डॉक्टर ने एनिस्थिसिया लेकर किया सुसाइड

नई दिल्ली. मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत महिला डॉक्टर ने एनिस्थिसिया लेकर खुदकुशी कर ली. मृतका की पहचान 24 वर्षीय अथीरा पार्वती मेनन के तौर पर हुई है. वह पीजी एनेस्थिसिया की छात्रा थी. पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है, जिसकी वजह से खुदकुशी के कारणों का फिलहाल पता नहीं चला है.

जानकारी के अनुसार, अथीरा केरल के कोच्चि शहर की निवासी थी. अथीरा ने कर्नाटक के कॉलेज से एमबीबीएस करने के बाद 2020 में मौलाना आजाद मेडिकल कालेज में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स में दाखिला लिया था. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अथीरा कालेज परिसर से बाहर एक पीजी में रह रही थी. वह शुक्रवार को अपने कमरे से बाहर नहीं निकलीं तो अन्य छात्राओं को शक हुआ. उन्होंने पुलिस का सूचित किया. पुलिस ने जब कमरे का दरवाजा तोड़ा तो अथीरा बेसुध पड़ी थी और कलाई में कैनुला लगा था. वहीं पास में एनिस्थिसिया की खाली शीशी पड़ी थी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला डॉक्टर ने कैनुला के जरिए एनिस्थिसिया की हैवी डोज लेकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने केरल में रहने वाले माता पिता को सूचित किया.

पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया. जांच में पाया गया है कि अथीरा ने एमबीबीएस की पढ़ाई करने के दौरान साथी डॉक्टर से विवाह कर लिया था, लेकिन अथीरा का पीजी एडमिशन दिल्ली में और पति का जयपुर हो गया. इस दूरी की वजह से अथीरा परेशान चल रही थी. फिलहाल पुलिस इसी को आत्महत्या की वजह मान कर चल रही है.

Related Articles

Back to top button