बस्तर में नक्सलियों से मुकाबला के लिए डीएसएफ फोर्स का गठन, 7 जिले में होती तैनात

बस्तर में अब नक्सलियों से मुकाबला करने के लिए डिस्ट्रिक्ट स्ट्राइक फोर्स (DSF) नवीन कैडर का गठन किया जाएगा। यह फोर्स बस्तर के सातों जिलों में तैनात होगी। इस फोर्स में मुख्य रूप से सरेंडर नक्सली, नक्सल पीड़ित और सहायक आरक्षकों को लिया जाएगा। डिस्ट्रिक्ट स्ट्राइक फोर्स गठन करने की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बजट पेश कर घोषणा की है। CM ने बताया कि पिछले कई सालों से जिन आरक्षकों का प्रोमोशन और वेतन वृद्धि नहीं हो पाई है इस घोषणा से उनकी वेतन वृद्धि और प्रमोशन हो सकेगा।
बस्तर के IG सुंदरराज पी ने बताया कि, डिस्ट्रिक्ट स्ट्राइक फोर्स से बस्तर में शांति और सुरक्षा स्थापित करने में बड़ी सफलता मिलेगी। हालांकि इसमें हर जिलों में कितने सरेंडर नक्सली, नक्सल पीड़ित और सहायक आरक्षकों की भर्ती की जानी है इसकी गाइडलाइन अभी नहीं आई है। गाइडलाइन आने के बाद इसकी प्रक्रिया शुरू की जाएगी। वर्तमान में पूरे संभाग में लगभग 3 हजार सहायक आरक्षक हैं। इनमें कई सरेंडर नक्सली भी शामिल हैं।

कई सालों से रुका है प्रमोशन
बस्तर में कई सहायक आरक्षकों का सालों से प्रमोशन के साथ वेतन वृद्धि भी रुकी हुई है। इसके अलावा कई नक्सल हिंसा पीड़ित परिवार के सदस्यों ने नौकरी के लिए भी आवेदन दिया है। इस फोर्स के गठन होने से इनको सीधा लाभ मिलेगा। नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवार के सदस्यों को डिस्ट्रिक्ट स्ट्राइक फोर्स में भर्ती के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button