सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की इलाज के दौरान मौत

गाजियाबाद. क्रॉसिंग रिपब्लिक की एक सोसाइटी में सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई महिला गार्ड ने सोमवार को इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल रहा था.

रविवार को मृतका के मौसेरे भाई ने सोसाइटी के सिक्योरिटी मैनेजर अजय कुमार और दो अज्ञात लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था. अजय कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. अधिकारियों का कहना है कि मृत्यु से पूर्व बयान में पीड़िता ने सिर्फ अजय पर दुष्कर्म का आरोप लगाया. डीसीपी ग्रामीण विवेक चंद्र यादव ने बताया कि मूलरूप से झारखंड निवासी 19 वर्षीय युवती क्रॉसिंग रिपब्लिक थानाक्षेत्र की एक सोसाइटी में गार्ड की नौकरी करती थी. रविवार को मौसेरे भाई ने अजय और दो अज्ञात लोगों पर युवती से मारपीट और सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए केस दर्ज कराया था. आरोप है कि अजय ने प्रिंटआउट देने के बहाने युवती को कमरे में बुलाया और साथियों के साथ दुष्कर्म किया. मेडिकल रिपोर्ट में उसके शरीर में जहर होने की पुष्टि नहीं हुई.

पुलिस पर दबाव डालने का आरोप

मृतका की मौसी और मौसेरे भाई ने आरोप लगाया कि पुलिस घर ले जाने के बहाने शव को हिंडन श्मशान घाट ले आई. रात में ही अंतिम संस्कार करने का दबाव बनाया. इनकार पर पुलिस एंबुलेंस का लॉक लगाकर चालक को ले गई. उधर, डीसीपी ग्रामीण विवेक चंद्र यादव ने आरोपों को नकारते हुए कहा कि शव का अंतिम संस्कार कराना परिजनों के ऊपर है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button