शराबबंदी पर घर-घर सर्वे से राय जानेगी सरकार

पटना . बिहार में जातीय गणना की तर्ज पर शराबबंदी को लेकर भी घर-घर सर्वेक्षण होगा. राज्य सरकार यह सर्वे कराएगी. सरकार यह जानेगी कि राज्य में कितने लोग शराबबंदी के पक्ष में हैं और कितने नहीं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को घर-घर सर्वे कराने का एलान किया. उन्होंने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि एक-एक घर में जाकर पता कीजिए कि कितने लोग शराबबंदी के पक्ष में हैं और कितने खिलाफ में हैं. जो पक्ष में नहीं हैं, उन्हें समझाइए कि शराब बहुत खराब चीज है, इसका सेवन नहीं करना चाहिए. सर्वेक्षण के बाद लोगों से अपील करिए और उनको एक जगह किसी दिन जनवरी में शराबबंदी के पक्ष में एकत्र कराएं.

मुख्यमंत्री रविवार को सीएम सचिवालय स्थित संवाद में नशामुक्ति दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे. इस मौके पर उन्होंने शराबबंदी में बेहतर कार्य करने वाले पदाधिकारियों को सम्मानित किया. इससे पहले उन्होंने मद्य निषेध के प्रचार-प्रसार के लिए बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

उन्होंने कहा कि इस बार ठीक से आकलन कराएं. इससे पहले शराबबंदी को लेकर जो सर्वे हुआ था, वह सीमित क्षेत्र में हुआ था. वर्ष 2018 में सर्वे कराया गया तो पता चला कि एक करोड़ 64 लाख लोगों ने शराब पीना छोड़ दिया है. वर्ष 2023 के सर्वे से पता चला कि एक करोड़ 82 लाख लोगों ने शराब पीना छोड़ दिया है. सर्वे से यह भी पता चला कि 99 प्रतिशत महिलाएं और 92 प्रतिशत पुरुष शराबबंदी के पक्ष में हैं. शराबबंदी को लेकर प्रतिदिन हमारे पास रिपोर्ट आती है. शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने के आरोप में बहुत लोग पकड़े गये हैं. उन्होंने कहा कि बाहर से अब भी बहुत शराब आती है.

करोड़ लोगों ने शराब पीना छोड़ा 2023 में हुए सर्वे के अनुसार 1.82 फीसदी महिलाएं और 92 फीसदी पुरुष बिहार में शराबबंदी के पक्ष में 99 मुख्यमंत्री बोले कभी शराबबंदी को नहीं छोड़ेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब महिलाओं की मांग हुई तो हमने शराबबंदी लागू की. हम कभी इसको वापस नहीं लेंगे. कुछ राज्यों में शराबबंदी लागू है लेकिन वहां इस पर अच्छे से काम नहीं होता है. आजकल कुछ लोग हमसे कहते हैं कि शराबबंदी ठीक से लागू नहीं है, इसे छोड़ दीजिए. पर हम कभी नहीं छोड़ेंगे. हम छात्र जीवन से ही शराब के खिलाफ हैं. बिहार में शराबबंदी लागू किये सात साल हो गया है, यह आगे भी जारी रहेगा. हम छोड़ने वाले नहीं हैं. शराब बड़ी खराब चीज है. 27 प्रतिशत सड़क दुर्घटनाएं शराब पीने के कारण होती हैं.

 

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button