फिश फार्मिंग के नाम पर 5 करोड़ से ज्यादा की ठगी, दो अरेस्ट, जाने मामला

फिश फार्मिंग के नाम पर दुर्ग के 94 किसानों से 5 करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले दो आरोपियों को दुर्ग पुलिस राजस्थान से ट्रांजिट रिमांड पर लाई है। पुलिस इन आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड में लेगी। इसके बाद इनसे ठगी के मामले में पूछताछ की जाएगी। इस मामले में अभी भी 7 आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। इन सभी आरोपियों ने मिलकर 6 राज्यों में 90 करोड़ रुपए की ठगी की है।
मोहन नगर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक बिजेंद्र कश्यप (43 साल) निवासी फरीदाबाद उत्तर प्रदेश ने अपने साथी विनय शर्मा (24 साल) निवासी बहादुरगढ़ हरियाणा के साथ मिलकर 6 राज्य के किसानों से फिश फार्मिंग के नाम पर ठगी की है। इनके द्वारा फिश फार्चून फार्मिंग के नाम से एक चिट फंड कंपनी संचालित की जा रही थी। इन्होंने छत्तीसगढ़ में सुधीर भंडारी और गुलाब चंद्राकर के साथ मिलकर 94 किसानों से 5 करोड़ 33 लाख से अधिक की ठगी की है। इरुगुड़ा सिकोला गुंडरदेही निवासी किसान देवेश चंद्राकर ने इनके खिलाफ मोहन नगर थाने में लिखित शिकायत की थी। पुलिस ने जांच में पाया कि आरोपियों ने ओम परिसर अपोजिट लाइफ केयर में बकायदा ऑफिस संचालित किया हुआ था।
यहां से ठगी करके भागने के बाद जब आरोपी मध्य प्रदेश पहुंचे तो भोपाल पुलिस ने इन्हें सबसे पहले गिरफ्तार किया। इसके बाद राजस्थान पुलिस ने इन्हें रिमांड पर लिया था। छत्तीसगढ़ की दुर्ग पुलिस ने राजस्थान के भीलवाड़ा जेल से 29 जनवरी को ट्रांजिट रिमांड पर लाकर कोर्ट में पेश कर उनका पुलिस रिमांड लिया है।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button