दुनियाNational

G-20 की आज अध्यक्षता संभालेगा भारत, 50 शहरों में होंगी 200 बैठकें

भारत इस साल G 20 देशों की अध्यक्षता करेगा. इसका एलान पहले ही हो चुका है. वहीं, एक दिसंबर यानी आज औपचारिक रूप से भारत (India) G 20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा. इस मौके को खास बनाने के लिए केंद्र ने विशेष तैयारियां की हैं. सरकारी सूत्रों ने बताया है कि इस अवसर पर देश भर में 100 से अधिक स्मारकों पर G20 लोगो को दिखाया जाएगा. इसके लिए विशेष तैयारियां भी गई हैं.

विदेश मंत्रालय ने बताया है कि राष्ट्राध्यक्षों और शासनाध्यक्षों के स्तर पर जी-20 देशों के नेताओं का शिखर सम्मेलन 9 और 10 सितंबर 2023 को नई दिल्ली में आयोजित होने वाला है. जी-20 या ग्रुप ऑफ 20 दुनिया की प्रमुख विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं का एक अंतर-सरकारी मंच है. इसमें 19 देश शामिल हैं.

जी20 की अध्यक्षता का एलान होने के बाद पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जी20 के नए लोगो-थीम और वेबसाइट का अनावरण किया था. इस मौके पर संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि G-20 का ये Logo केवल एक प्रतीक चिन्ह नहीं है बल्कि ये एक संदेश है. ये एक भावना है, जो हमारी रगों में है. ये एक संकल्प है, जो हमारी सोच में शामिल रहा है. पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि एक दिसंबर से भारत G20 की अध्यक्षता करेगा. भारत के लिए यह एक ऐतिहासिक अवसर है इसलिए आज इस समिट की वेबसाइट, थीम और लोगो को लांच किया गया है. उन्होंने कहा कि इस अवसर पर मैं सभी देशवासियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं. 

जी-20 में जो देश शामिल हैं वो कुछ इस प्रकार हैं- अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, कोरिया, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूएसए और यूरोपिय संघ. सामूहिक रूप से जी-20 वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी का 85 प्रतिशत, अंतरराष्ट्रीय व्यापार का 75 प्रतिशत और विश्व जनसंख्या का दो तिहाई हिस्सा है जो इसे अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का प्रमुख मंच बनाता है.

भारतीय विदेश मंत्रालय (Mea) ने बताया कि जी-20 (G-20) में वर्तमान 8 वर्कस्ट्रीम (Work Stream) शामिल हैं. इनमें (ग्लोबल मैक्रोइकॉनॉमिक पॉलिसी, इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंसिंग, इंटरनेशनल फाइनेंशियल आर्किटेक्चर, सस्टेनेबल फाइनेंस, फाइनेंशियल इंक्लूजन, हेल्थ फाइनेंस, इंटरनेशनल टैक्सेशन, फाइनेंशियल सेक्टर रिफॉर्म्स) के साथ फाइनेंस ट्रैक, शेरपा ट्रैक हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!