छत्तीसगढ़ विधानसभा में राम मंदिर निर्माण पर आभार प्रस्ताव पारित

छत्तीसगढ़ विधानसभा ने प्रस्ताव पारित कर 22 जनवरी को अयोध्या में श्री राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया गया.

धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल द्वारा सदन में रखे गए प्रस्ताव में कहा गया कि “छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक नागरिक की ओर से यह सदन जन्मभूमि अयोध्या में लगभग पांच सौ वर्षों के बाद निर्मित भव्य राम मंदिर में माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा दिनांक 22 जनवरी 2024 को प्रभु श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा किए जाने पर कृतज्ञ है.”

श्री अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ माता कौशल्या की जन्मभूमि है. छत्तीसगढ़ राज्य प्रभु श्री राम का ननिहाल है और श्री राम के वनवास काल में वन गमन मार्ग रहा है. भगवान राम इस प्रदेश की तीन करोड़ जनता के आराध्य हैं. अयोध्या में राम लला के विराजमान होने से छत्तीसगढ़ की जनता में भी, उल्लास, उत्साह और खुशी का माहौल है.

प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान विपक्ष के सदस्य मौजूद नहीं थे.

मंत्री ने कहा कि अयोध्या में भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा एक ऐतिहासिक घटना थी और दुनिया के कई देशों ने इसकी प्रशंसा की.

उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस के लिए ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि वह इस चर्चा में मौजूद नहीं है.

उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस सदस्य सदन में प्रस्ताव का विरोध करेंगे तो लोग उन्हें सबक सिखाएंगे और यदि वे इसका समर्थन करते हैं तो उनकी पार्टी उन्हें सबक सिखाएगी.

विपक्षी कांग्रेस सदस्यों की अनुपस्थिति में चर्चा के बाद सदन ने प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित कर दिया.

श्री अग्रवाल ने कहा कि, जहाँ राम नहीं वहां राष्ट्र नहीं हो सकता और जहाँ राम है वहीं राष्ट्र है अगर सबके पूर्वज कोई हैं तो प्रभु राम हैं प्रभु राम हमारे प्रेरणा हैं, प्रभु राम हमारी चेतना हैं, प्रभु राम हमारी विरासत है प्रभु राम हमारी संस्कृति हैं और प्रभु राम हमारी सभ्यता है.

उन्होंने यह भी कहा राम लला के आ जाने से भारत को विश्व गुरु बनाने का रास्ता प्रशस्त हुआ है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button