Parenting Tips: अपने व्यवहार में शामिल करें चीज बच्चे बन जाएंगे संस्कारी…

Parenting Tips: कहा जाता है की बच्चे का पहला स्कूल उसका खुद का घर ही होता है। बच्चा वैसा ही सीखता है,

Parenting Tips: कहा जाता है की बच्चे का पहला स्कूल उसका खुद का घर ही होता है। बच्चा वैसा ही सीखता है, जो वह घर में अपने सामने देखता है। यही कारण है की लोग अपने बच्चो के सामने सोच समझकर व्यवहार करते हैं, आइए जानते हैं कुछ पैरेंटिग टिप्स जिससे आपका बच्चा बन जायेगा संस्कारी….

सोच-समझ के बोलते हैं।

बच्चे के सामने कुछ काम करने से पहले भी कई बार सोचना पड़ता है। खासतौर पर बात करें बच्चे के माता-पिता की, तो हर बच्चा वो सब करता है, जो वो अपने माता-पिता को करते देखता है।

यही वजह है कि बड़े-बुजुर्ग ये सलाह देते हैं कि बच्चों के सामने माता-पिता को बहुत ध्यान देने की जरूरत होती है। ऐसे में अगर आप भी चाहते हैं कि आपका बच्चा अच्छी आदतें सीखे तो सबसे पहले अपने व्यवहार में कुछ चीजों को जरूर शामिल करें। जब आप अपने व्यवहार में कुछ अच्छी आदतों को शामिल कर लेंगे तो इससे आपका बच्चा भी वही आदतें सीखेगा और अच्छे संस्कारों के साथ ही बड़ा होगा।

दयालु रहें

बच्चे के सामने कभी भी किसी पर हावी होने का प्रयास न करें। दूसरों के साथ अच्छे से और दयालू बने रहें, ताकि बच्चा जब ये देखे तो उसमे भी ये आदत आ सके। साथ ही उनको सिखाएं की यदि कोई गलती भी हो जाती है तब उसे माफ कर दें। जो माफी देता है वह हमेशा बड़ा होता है। बच्चो को दूसरे का मदद करना भी जरूर से सिखाएं।

शेयरिंग है सबसे जरूरी

अपने बच्चे के सामने जब भी हो तो परिवार के लोगों के साथ कुछ भी चीजों को जरूर से शेयर करना सीखे, ताकि उनमें भी ये आदत आ पाए। बच्चे शेयरिंग सीखेंगे तो उनके आसपास का माहौल भी अच्छा रहेगा, जिससे आगे उन्हें कोई परेशानी नहीं आयेगी।

भावनाओं व्यक्त करने की सिख

बच्चे को अपनी भावनाओं पर कैसे नियंत्रिण करना है ये जरूर से सिखाएं। लेकिन इससे बिल्कुल भी ये अर्थ नही है की उन्हें हर चीजों पर कंट्रोल करना सिखाया जाए। बस अपने बच्चे को ऐसा एहसास दिला देना है कि भावनाओं को व्यक्त करने का सही जगह देखना सबसे जरूरी होता है।

बातो को ध्यान से सुने

हमेशा दूसरों की बात बच्चे के सामने अच्छे से और ध्यान से सुनें, जिससे उनमें भी ये आदत आ पाए।यदि आप भी ऐसा नहीं करते है तो बच्चा खुद की ही सुनेगा और कहेगा, जिस कारण उसको जिद करने की गलत लत लगा जायेगी और वो सामने वाले की बात ही नही समझ पाएगा।

दूसरों का आभार जरूर जताए

आप आदि चाहते है की बच्चा सभी से बढ़िया से पेश आए तो उसके सामने सभी छोटो और बड़ो का आभार जरूर प्रकट करें।

आपके साथ किसी ने यदि कुछ अच्छा किया है तो बिना कुछ सोचे विचारे बच्चे के सामने उसे मन से खुश होते हुए धन्यवाद कहें। ताकि बच्चा ये भी आदत सिख पाए।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button