सांसद चुनाव की तैयारी में जुटें PM मोदी

नई दिल्ली . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भाजपा सांसदों से आह्वान किया कि वे आगामी लोकसभा चुनाव के लिए जी जान से जुट जाएं. उन्होंने कहा, जनता में विकसित भारत के लक्ष्य को लेकर जनजागृति पैदा करें और सरकार की योजनाओं खासकर गरीब कल्याण एवं विश्वकर्मा योजना का जमकर प्रचार करें.

भाजपा संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने तीन राज्यों में जीत को कार्यकर्ताओं की सामूहिक जीत बताया. मोदी ने कहा, सरकार चलाने के लिए भाजपा सबसे पसंदीदा पार्टी है. उसका चुनाव जीतने का रिकॉर्ड अन्य दलों से बेहतर है.

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में 40 बार विधानसभा चुनाव लड़े और सिर्फ सात में जीत दर्ज की. भाजपा के लिए ये 39 में से 22 बार है, यानी सफलता दर 56 है. क्षेत्रीय दलों ने भी 36 में से 18 बार जीत हासिल की यानी सफलता दर 50 है.

प्रधानमंत्री ने कहा, एक और आंकड़ा दो बार के बाद तीसरी बार सत्ता में आने का है. कांग्रेस को सात बार मौका मिला, पर एक बार सफल हुई. भाजपा को 17 बार मौका मिला और वह दस बार जीती. गुजरात में हम सात बार और मध्य प्रदेश में लगातार जीत रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा, नेता जनता से संवाद में वही भाषा प्रयोग करें जो लोग पसंद करते हैं. उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि सांसदों, पार्टी नेता मोदी जी की गारंटी की बजाय मोदी की गारंटी शब्द प्रयोग करें. इससे पहले चुनावों में जीत पर प्रधानमंत्री मोदी का अभिनंदन किया गया. बैठक में मोदी के पहुंचते ही सांसदों ने खड़े होकर तालियां बजाईं और मोदी-मोदी और स्वागत है मोदी… के नारे लगाए.

शाह, नड्डा से मिलने पहुंच रहे तीनों राज्यों के नेता

मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री के नामों की अटकलों के बीच राज्यों के नेता आलाकमान से मिल रहे हैं. राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की. अलवर सांसद बालक नाथ ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. उधर, छत्तीसगढ़ से विधायक चुनी गईं रेणुका सिंह भी नड्डा से मिलीं. डेढ़ घंटे बैठक P12

आज केंद्रीय पर्यवेक्षकों के नामों का ऐलान संभव

तीनों राज्यों में नए मुख्यमंत्री के चयन को लेकर अभी दो दिन और इंतजार करना पड़ सकता है. भाजपा नेतृत्व द्वारा तीनों राज्यों के लिए शुक्रवार को विधायक दल की बैठक के लिए पर्यवेक्षकों की घोषणा किए जाने की संभावना है. इसके बाद शनिवार या रविवार तक इन राज्यों में नए नेता के चुनाव की प्रक्रिया पूरी की जाने की संभावना है.

 

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button