Nationalअन्य ख़बरेंदुनिया

राष्ट्रपति मुर्मू ने 8 नए आईआईटी निदेशकों की नियुक्ति को मंजूरी दी

देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार को आठ भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में निदेशकों की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है. इनमें से दो निदेशकों को दूसरे कार्यकाल के लिए इसके लिए एक बार फिर से नियुक्ति दी गई है. इसकी जानकारी शिक्षा मंत्रालय ने दी है. शिक्षा मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक आईआईटी भिलाई के निदेशक रजत मूना को आईआईटी गांधीनगर का निदेशक नियुक्त किया गया है, जबकि आईआईटी धारवाड़ के निदेशक पी. सेशु को आईआईटी गोवा के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है.

राष्ट्रपति देश के सभी आईआईटी संस्थानों की विजिटर हैं

गौरतलब है कि भारत की राष्ट्रपति देश के सभी आईआईटी संस्थानों की विजिटर हैं. इस नाते यहां निदेशकों की नियुक्ति का अधिकार भी राष्ट्रपति को हासिल है. अपने इन्हीं अधिकारों का प्रयोग करते हुए राष्ट्रपति ने आईआईटी पलक्कड़ के लिए प्रोफेसर ए शेषाद्री शेखर को निदेशक नियुक्त किया है जबकि आईआईटी तिरुपति के निदेशक पद पर प्रोफेसर केएन सत्यनारायण और आईआईटी धारवाड़ के निदेशक पद पर प्रोफेसर वैंकप्पय्या आर देसाई को नियुक्त किया गया है.

वहीं आईआईटी भिलाई के लिए राष्ट्रपति ने प्रोफेसर राजीव प्रकाश को निदेशक नियुक्त किया है. आईआईटी गांधीनगर के नए निदेशक प्रोफेसर रजत मूना होंगे. आईआईटी भुवनेश्वर के नए निदेशक प्रोफेसर श्रीपद कमलाकर हैं. राष्ट्रपति ने आईआईटी गोवा के निदेशक पद पर प्रोफेसर पासुमार्थी सेशु को निदेशक नियुक्त किया है. इसी तरह आईआईटी जम्मू के लिए प्रोफेसर मनोज सिंह गौड़ को निदेशक पद पर नियुक्त किया गया है.

इससे पहले सोमवार को केंद्रीय शिक्षा और कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आईआईटी मद्रास की रणनीतिक योजना 2021-27 जारी की.योजना ने संस्थान के लिए एक महत्वाकांक्षी विकास चरण और क्वांटम विज्ञान और कोटक-आईआईटी (एम) सेव एनर्जी मिशन के लिए समर्पित एम्फैसिस सेंटर का प्रस्ताव रखा.

 उन्होंने एमएसएमई को ऊर्जा खपत कम करने में मदद करने के लिए कोटक से सीएसआर फंडिंग सहायता के साथ स्थापित किया जा रहा कोटक आईआईटीएम सेव एनर्जी मिशन भी लॉन्च किया और क्वांटम सूचना, संचार और कंप्यूटिंग केंद्र (सीक्यूआईसीसी) के विकास का समर्थन करने के लिए एम्फैसिस टीम को सम्मानित किया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button