राहुल द्रविड़ बने रहेंगे टीम इंडिया के हेड कोच

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने टीम इंडिया के कोचिंग स्टाफ का कॉन्ट्रैक्ट आगे बढ़ाने का ऐलान कर दिया है. राहुल द्रविड़ एंड कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट का एक्सटेंशन बीसीसीआई ने कर दिया है, लेकिन अभी तारीख नहीं बताई है कि कितने दिन के लिए वे टीम के हेड कोच बने रहेंगे. एक बार फिर से यही दिग्गज भारतीय टीम के कोचिंग स्टाफ की कमान संभाले रखेंगे. वर्ल्ड कप 2023 के साथ राहुल द्रविड़ और उनके साथ बल्लेबाजी कोच, फील्डिंग कोच और गेंदबाजी कोच का कार्यकाल समाप्त हो गया था.

बीसीसीआई ने मीडिया रिलीज जारी करते हुए कहा है मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और टीम इंडिया के सहयोगी स्टाफ (सीनियर मेंस) के लिए अनुबंध का विस्तार किया है. हाल ही में संपन्न आईसीसी मेंस क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 के बाद उनके अनुबंध की अवधि समाप्त होने के बाद बीसीसीआई ने राहुल द्रविड़ के साथ सार्थक चर्चा की और सर्वसम्मति से कार्यकाल को आगे बढ़ाने पर सहमति व्यक्त की. बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर, फील्डिंग कोच टी दिलीप और गेंदबाजी कोच पारस म्हाम्ब्रे का भी कार्यकाल बढ़ा है.

बोर्ड ने राहुल द्रविड़ की तारीफ करते हुए कहा है कि भारतीय टीम को तैयार करने में द्रविड़ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है और उनकी असाधारण व्यावसायिकता की हम सराहना करते हैं. बोर्ड एनसीए के प्रमुख और स्टैंड-इन हेड कोच के रूप में उनके अनुकरणीय भूमिकाओं के लिए वीवीएस लक्ष्मण की भी सराहना की. अपनी प्रसिद्ध ऑन-फील्ड साझेदारियों के समान द्रविड़ और लक्ष्मण ने भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाने में मिलकर काम किया है.

बीसीसीआई के अध्यक्ष रोजर बिन्नी ने कहा है कि राहुल द्रविड़ की दूरदर्शिता, व्यावसायिकता और दृढ़ प्रयास टीम इंडिया की सफलता में महत्वपूर्ण स्तंभ रहे हैं. वहीं, सचिव जय शाह का इस एक्सटेंशन पर कहना है, “मैंने उनकी नियुक्ति के समय उल्लेख किया था कि मुख्य कोच की भूमिका संभालने के लिए राहुल द्रविड़ से बेहतर कोई व्यक्ति नहीं है और द्रविड़ ने इसे साबित कर दिया. भारत अब सभी प्रारूपों में एक मजबूत टीम है और तीनों प्रारूपों में हमारी शीर्ष रैंकिंग इसका उदाहरण है. विश्व कप अभियान भी असाधारण से कम नहीं था. इसके लिए मुख्य कोच सराहना के पात्र हैं.”

कोच राहुल द्रविड़ ने कहा, “टीम इंडिया के साथ पिछले दो साल बेहद यादगार रहे हैं. साथ में, हमने उतार-चढ़ाव देखे हैं. ड्रेसिंग रूम में हमने जो संस्कृति स्थापित की है उस पर मुझे वास्तव में गर्व है. यह एक ऐसी संस्कृति है जो जीत और हार के क्षणों में भी लचीली बनी रहती है. हमारी टीम के पास जो कौशल और प्रतिभा है, वह अभूतपूर्व है. मैं बीसीसीआई और पदाधिकारियों को मुझ पर भरोसा रखने, मेरे दृष्टिकोण का समर्थन करने और इस अवधि के दौरान समर्थन प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूं.”

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button