मेरी तस्वीरों से छेड़छाड़ की गई रणवीर सिंह

मुंबई. बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह ने न्यूड फोटो मामले में मुंबई पुलिस के सामने बयान दर्ज कराया है. रणवीर ने बताया कि जिन निर्वस्त्रत्त् तस्वीरों के कारण उनके खिलाफ अश्लीलता का मामला दर्ज किया गया है, उन तस्वीरों से छेड़छाड़ की गई थी. इस तस्वीर को उन्होंने साझा भी नहीं किया था. उन्होंने फोटोशूट की जो सात तस्वीरें इंस्टाग्राम पर डाली थीं, उनमें यह तस्वीर बिल्कुल नहीं थीं.

अंतवस्त्रत्त् पहने थे

पुलिस ने रणवीर सिंह का बयान 29 अगस्त को दर्ज किया था. एक अधिकारी ने बताया कि रणवीर ने पुलिस से कहा कि विवादित तस्वीर को उन्होंने साझा नहीं किया था. अभिनेता ने यह भी कहा कि जो तस्वीरें उन्होंने साझा की थीं, वह अश्लील नहीं थीं क्योंकि उन्होंने अंतवस्त्रत्त् पहने थे. पुलिस के मुताबिक, तस्वीरों से छेड़छाड़ हुई है या नहीं, इसकी जांच के मकसद से उन्हें फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में भेज दिया गया है. अगर यह साबित हो जाता है कि तस्वीर मॉर्फ्ड है तो रणवीर को इस मामले में ग्रीन चिट मिल सकता है.

महिलाओं की भावनाएं आहत

एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) के पदाधिकारी की शिकायत के आधार पर चेंबूर थाने में रणवीर सिंह के खिलाफ जुलाई में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी. इसके बाद पुलिस ने अभिनेता को नोटिस जारी कर जांच में शामिल होने को कहा था. शिकायत में आरोप लगाया गया था कि अभिनेता ने अपनी तस्वीरों से महिलाओं की भावनाओं को आहत किया और उनकी गरिमा को ठेस पहुंचाई है.

कई धाराओं में मुकदमा

शिकायत के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा-292 (अश्लील किताबों आदि की बिक्री), धारा-293 (युवाओं को अश्लील सामग्री की बिक्री), धारा-509 (महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के इरादे से कोई शब्द कहना, इशारा करना या किसी कृत्य को अंजाम देना) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के प्रावधानों के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की थी.

Related Articles

Back to top button