बस्तर में ठहरा दक्षिण-पश्चिम मानसून, आगे बढ़ने का इंतजार

रायपुर. दक्षिण पूर्व मानसून के 13 जून तक छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में पहुंचने की मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की थी. लेकिन मानसून 5 दिन पूर्व ही सुकमा के रास्ते बस्तर में पहुंचा गया. उसके दो दिन बाद भी मानसून की गतिविधियां बस्तर में ही ठहर गई है. मौसम वैज्ञानिक की स्पष्ट नहीं कर पा रहे है कि समय से पूर्व आया मानसून आगे क्योंकि नहीं बढ़ रहा है.

मौसम विभाग ने मानसून के छत्तीसगढ़ में पहुंचने के लिए भविष्यवाणी की थी. जिसमें बस्तर में 13 जून को मानसून के आना तय था. उसके बाद रायपुर 19 जून, बिलासपुर में 17 जून और अंबिकापुर में 21 जून तक पहुंचना है. लेकिन पांच दिन पूर्व आए मानसून बस्तर में ठहर गया है. लेकिन उसके बढ़ने के लिए अभी अनुकूल परिस्थितियां एक दो दिन में बनने की संभावना है.

माससून पूर्व की गतिविधियां उत्तरी छत्तीसगढ़ में शुरू हो गई है. लेकिन गर्मी और उसम से राहत नहीं मिल रही है. न्यायधानी और आसपास के इलाके में सोमवार को सुबह से सूरज की तपिश रही और गर्म हवा भी चली. शाम को आसपास में बादल छाए और हल्की शीतल हवा चली. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि गरज-चमक के साथ अंधड़ चल सकती है. और एक दो जगहों पर आसमानी बिजली गिरने की संभावना है. अगले 3 दिनों तक अधिकतम तापमान भी बढ़ेगा. न्यायधानी और आसपास के इलाके में सूरज की तपिश काफी तेज रही और गर्म हवा भी चलती रही. शाम को मौसम का मिजाल हल्का बदला और हल्की शीतल हवा चलने लगी. पिछले तीन दिनों से गर्मी और उसम से लोग हलाकान हो रहे है. बिलासपुर में अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 29.4 डिग्री रहा.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button