टैटू प्रशिक्षण कार्यक्रम 25 मई से, पुश्तैनी कलाकार सीखेंगे अब नया हुनर

रायपुर. रायपुर जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में जिला खनिज न्यास संस्थान, नगर निगम, स्मार्ट सिटी द्वारा “कौशल उन्नयन कार्यक्रम“ के तहत टैटू प्रशिक्षण कार्यक्रम गुरूवार 25 मई से शुरू हो रहा है. छत्तीसगढ़ में गोदना के नाम से प्रसिद्ध इस टैटू आर्ट का प्रशिक्षण प्रदान करने इस परंपरागत कला से पुश्तैनी तौर पर जुड़े अथवा टैटू आर्टिस्ट के तौर पर जीवन यापन कर रहे कलाकारों को चयनित किया जा रहा हैं. नगर निगम कमिश्नर व रायपुर स्मार्ट सिटी के एम डी  श्री मयंक चतुर्वेदी आज महादेव घाट में टैटू आर्ट का व्यवसाय कर रहे ऐसे ही कलाकारों से मिले और प्रशिक्षण के जरिए उनके कौशल विकास के साथ ही साथ योजनाओं एवं कार्यक्रमों से होने वाले लाभ से अवगत कराया.  पुश्तैनी तौर पर गोदना व्यवसाय से जुड़े ये युवा अब कौशल विकास कार्यक्रम के तहत गहन प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे.  

आनंद समाज वाचनालय सभागार में आयोजित टैटू प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षक शैली, जो स्वयं भी आजीविका हेतु इस व्यवसाय से जुड़े है और टैटू आर्ट के जरिए ख्याति प्राप्त है. अब इन कलाकारों को टैटू आर्ट की बारीकियों, मशीन के उपयोग, डिजाइन, फाइन आर्ट, ग्राहकों से व्यवहारशीलता, संक्रमण से बचाव के लिए ली जाने वाली सावधानियों के संबंध में विस्तार से जानकारी देंगे. टैटू मास्टर शैली फिल्म सिटी मुंबई और बस्तर वनांचल के युवाओं को परंपरागत व आधुनिक टैटू आर्ट में प्रशिक्षित कर उन्हें आत्मनिर्भरता प्रदान की है. यह प्रशिक्षण सत्र 8 जून तक संचालित होगा, उसके पश्चात प्रशिक्षणार्थियों को फील्ड में मार्केटिंग, कस्टमर हैंडलिंग, व्यक्तिगत स्वच्छता जैसी उपयोगी जानकारी से भी अवगत कराएंगे.

टैटू मास्टर शैली द्वारा दिनांक 18-19 मई को दो दिवसीय कार्यशाला में टैटू आर्ट की जानकारी देते हुए शहरी आजीविका मिशन के माध्यम से तृतीय लिंग समुदाय, स्थानीय पुरुष व महिला टैटू कलाकारों से मिले थे, जो वर्तमान में न्यूनतम आय अर्जित कर रहे हैं, किन्तु टैटू कला को ही अपनी आजीविका के साधन के रूप में अपनाना चाह रहे हैं. जिला खनिज न्यास संस्थान के मार्गदर्शन में अब ऐसे ही जरूरतमंद कलाकारों की प्रतिभा को निखारने यह प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button