मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी ने अपने जन्मदिन पर आयोजित न्योता भोज में अपने हाथों से बनी खीर और केक बच्चों को खिलाई

Aamaadmi Patrika Aamaadmi Patrikaअपने जन्मदिन के अवसर पर आयोजित न्योता भोज में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की धर्मपत्नी कौशल्या साय ने अपने हाथों से बनी खीर और केक बच्चों को खिलाई और उन्हें ढेर सारा स्नेह दिया. न्योता भोज का आयोजन सरदार प्रीतम सिंह सैनी प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शाला श्यामनगर में और शासकीय बालिका गृह खम्हारडीह में किया गया. उन्होंने अपने परिवार जनों और बच्चों के साथ न्योता भोज भी किया.

इस मौके पर श्रीमती साय ने बच्चों से पूछा कि खीर कैसी बनी है. बच्चों ने बताया कि खीर बहुत अच्छी बनी है. उन्होंने बच्चों को बताया कि अपने जन्मदिन पर हम लोग हमेशा खीर बनाते हैं. मेरे बच्चों को भी खीर बहुत प्रिय है. आप सब बहुत प्यारे बच्चे हैं इसलिए आपके लिए भी अपने जन्मदिन पर आज खीर बनाकर लाई हूं.

कौशल्या साय ने बच्चों से पढ़ाई लिखाई और बच्चों की छोटी-छोटी शरारतों के बारे में ढेर सारी बातें की. उन्होंने स्कूल के शिक्षकों से भी बच्चों की पढ़ाई लिखाई के बारे में चर्चा की.

कौशल्या साय ने चर्चा में बताया कि उन्हें साय जी ने बताया कि हमारे प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण अभियान संचालित कर रहे हैं. यह बहुत सुंदर अभियान है. इसके तहत प्रधानमंत्री जी ने सबसे आग्रह किया है कि अपना जन्मदिन और जीवन के खास अवसरों को स्कूली बच्चों के साथ मनाएं. वे बच्चों को भोजन कराएं और स्वयं बच्चों के साथ भोजन करें.

जब साय जी यह बता रहे थे, उसी समय मैंने निश्चय किया था कि मैं अपना जन्मदिन स्कूली बच्चों के साथ मनाऊंगी. जिस तरह से मैं हर साल अपने बच्चों के जन्मदिन पर खीर बनती हूं. उसी तरह से इस बार भी मैं अपने हाथों से खीर तैयार करूंगी और स्कूली बच्चों को खिलाऊंगी. आज बच्चों ने बहुत रुचि से खीर खाई. यह मेरा सौभाग्य है कि उन्हें मेरे हाथों की बनाई हुई खीर पसंद आई है. आज मेरा जन्मदिन सफल हुआ.

उन्होंने कहा कि न्योता भोज बहुत सुंदर आयोजन है. इस आयोजन की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इससे छोटे छोटे प्यारे से बच्चों के साथ बातचीत करने का मौका मिलता है. बच्चे बहुत रुचि से पकवान खाते हैं. उन्हें बहुत रुचि से खाना खाते देखकर बहुत अच्छा लगता है.

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान के पश्चात छत्तीसगढ़ में लगातार जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण एवं गणमान्य नागरिक न्योता भोज कर रहे हैं. आज श्रीमती कौशल्या साय का जन्मदिन है और उन्होंने भी इसे न्योता भोज के रूप में मनाया.

शुभ मौके पर खीर खिलाने की परंपरा वेदों से जुड़ी

भारतीय और छत्तीसगढ़ की परंपरा में जन्मदिन के अवसर पर खीर बनाई जाती है. लोग जन्मदिन में खीर खिलाकर मुंह मीठा कराते हैं. यह हमारी सनातन परंपरा है. जब भी कोई शुभ मौका होता है तो मुंह मीठा कराया जाता है. वैदिक काल से ही इस परंपरा की शुरुआत हुई. वेदों में खीर को क्षीरपाकमोदनम भी कहा गया है. खीर का इतना महत्व है कि अनुश्रुति है कि माता गंगा धरती पर  सप्तऋषियों के आशीर्वाद युक्त मंगल खीर लेकर उतरी हैं.

 

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button