छत्तीसगढ़अन्य ख़बरें

परी बन कर दिया सुपोषित छत्तीसगढ़ का संदेश

रायपुर. प्रदेश में 1 सितंबर से राष्ट्रीय पोषण माह चलाया जा रहा है. जिसके अंतर्गत पोषण आहार के बारे में गतिविधियां करते हुए लाभार्थियों को पोषण आहार खाने और उसके लाभ के बारे में बताया जा रहा है. इसी कड़ी में गुढ़ियारी सेक्टर में पोषण परी के माध्यम से पोषण आहार के बारे में संदेश दिया गया.

पोषण व्यवहार संबंधी जानकारी देते हुए गुढ़ियारी सेक्टर की पर्यवेक्षक रीता चौधरी ने बताया: ‘’पोषण माह के अंतर्गत लोगों को पोषण व्यवहार और पोषण आहार के बारे में बताया जा रहा है . इसके लिए तरह तरह की गतिविधियां करते हुए लाभार्थियों को यह संदेश दिया जा रहा है कि पोषण आहार शारीरिक और मानसिक विकास के लिए कितना महत्वपूर्ण है और कौन सी सब्जियों को खाने से हमें क्या लाभ होते हैं, किस तरह का भोजन करने से हमारा सही विकास होता है. इन सभी के बारे में पोषण माह के अंतर्गत हो रही गतिविधियों में जानकारी दी जा रही है . ‘”

आगे उन्होंने कहा “पोषण माह के अंतर्गत सेक्टर गुढ़ियारी में बाजरा की रोटी, रागी का हलवा एवं अन्य व्यंजन, खुर्मी, चीला, गुलगुला, भजिया, रेडी टू ईट फूड से बनाकर व्यंजन प्रदर्शनी लगाई गई एवं हितग्राहियों को समझाइश दी गई कि आप भी रेडी टू ईट फूड पैकेट का उपयोग निर्धारित मात्रा के अनुसार ही करें एवं हरी सब्जियों का उपयोग प्रतिदिन अपने भोजन में लें . किशोरी ने फल एवं सब्जी के पंख लगाकर सुपोषण परी बनकर हितग्राहियों को सुपोषित छत्तीसगढ़ का संदेश के साथ साथ स्वस्थ रहने के लिए हरी साग सब्जियों का प्रयोग करने के बारे में जानकारी दी गयी . स्लोगन के माध्यम से भी पोषण का संदेश दिया गया.“
प्रदर्शनी के माध्यम से शिशुवती माताओं, गर्भवती महिलाओं और 1 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोषण आहार नियमित रूप से देने का संदेश दिया गया. रेडी टू ईट से कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने अनेक प्रकार के पकवान बनाए. जिसमें विशेष रूप से नमकीन, कतरा चिला, खुरमी, लड्डू आदि व्यंजन को सराहा गया. इस प्रदर्शनी के माध्यम से शिशुवती माताओं, गर्भवती महिलाओं और 1 से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोषण आहार नियमित रूप से देने की बात कही गई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button