यह संविधान, लोकतंत्र बचाने का चुनाव राहुल गांधी

नई दिल्ली . दिल्ली में रविवार को विपक्षी दलों के गठबंधन ‘इंडिया’ की महारैली ‘लोकतंत्र बचाओ’ नारे के साथ आयोजित हुई. इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर लोकसभा चुनाव में मैच फिक्सिंग की कोशिश का आरोप लगाया. उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे पूरी ताकत से मतदान करें, क्योंकि यह संविधान और लोकतंत्र को बचाने का चुनाव है.

रामलीला मैदान में आयोजित रैली में राहुल गांधी ने कहा, भाजपा का 400 पार का नारा बिना ईवीएम, बिना मैच फिक्सिंग के 180 के पार भी नहीं होने वाला है. उन्होंने कहा, कांग्रेस सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है. चुनाव के बीच में ही हमारे खाते फ्रीज कर दिए गए. लोगों को धमकाया जाता है, सरकारों को गिराया जाता है, नेताओं को जेल में डाल दिया जाता है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा देश की गरीब जनता से संविधान को छीनना चाहती है.

जनता साथ आए विपक्षी दलों के नेताओं पर हो रही कार्रवाई के विरोध में इंडिया की रैली में सभी दलों के बड़े नेता पहुंचे. गठबंधन के संयोजक और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, लोकतंत्र और संविधान बचाने के लिए पूरा विपक्ष एकजुट है. यह लड़ाई लोकतंत्र बचाने के लिए है, इसलिए हमें साथ लड़ना होगा. उन्होंने जनता से आह्वान किया कि वह संविधान बचाने की जंग में साथ आए.

पांच मांगें रखीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ‘इंडिया’ की ओर से पांच मांगें रखीं. इसमें विपक्षी दलों के खिलाफ कार्रवाई पर रोक और केजरीवाल व हेमंत सोरेन को तत्काल रिहा करने की मांग शामिल है.

अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति तेजस्वी – राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि आज देश में अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति है. यहां कभी भी किसी के यहां ईडी, सीबीआई और आयकर वालों को भेज दिया जाता है. बिना जांच और अदालत के उन्हें जेल भेज दिया जाता है.

केजरीवाल, सोरेन की पत्नियां भी पहुंचीं रैली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल पहली बार सार्वजनिक मंच पर आईं. झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन, आप सांसद संजय सिंह की पत्नी अनीता, सत्येंद्र जैन की पत्नी पूनम जैन भी मौजूद रहीं.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button