ट्रांसफर घोटाला: रिटायर्ड जिला शिक्षा अधिकारी समेत तीन आरोपी गिरफ्तार

शिक्षा विभाग स्थानांतरण घोटाले में रायपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने मामले से जुड़े तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने शिकायत के  48 घंटे के भीतर इस मामले का खुलासा किया है। शिकायत के बाद से ही राखी पुलिस टीम का गठन कर मामले की जांच और अज्ञात आरोपियों की पतासाजी में जुट गई थी। जिसके बाद सीसीटीवी और मोबाइल ट्रेस कर तीनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं।
बता दें कि इस मामले में पुलिस के अनुसार दिनांक समय को जिस पोस्ट ऑफिस से वह पत्र स्पीड पोस्ट किया गया था। पुलिस वहां पहुंची और उसके संबंध में तकनीकी विश्लेषण किया गया। जिस पर आरोपी कपिल ने अपने मोबाईल फोन से पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी गेंदाराम चन्द्राकर से संपर्क किया। इसी समय इन्ट्रोगेशन टीम ने शिक्षा विभाग के स्टाॅफ अजय सोनी से पूछताछ की जा रहीं थी। जिसने उक्त शिकायत की साथ लगे कथित डायरी की लिखावट को अपनी होने से इनकार किया गया और किसके द्वारा लिखा गया है। 
जानने से इंकार करते हुए उसके तथ्यों को काल्पनिक व निराधार बताया साथ ही इस कृत्य को अंजाम देने में पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी गेंदाराम चन्द्राकर पर संदेह व्यक्त किया।

उक्त दोनों कड़ियां आपस में जुड़ने से पुलिस टीम का संदेह गेंदाराम चन्द्राकर पर पुख्ता हो गया किंतु इसी समय कपिल कुमार का मोबाईल फोन बंद हो गया। तत्पश्चात् पुलिस टीम द्वारा गेंदाराम चन्द्राकर की पतासाजी कर पकड़ा गया। टीम के सदस्यों द्वारा पूछताछ करने गेंदाराम चन्द्राकर द्वारा अपने अन्य दो साथी कपिल कुमार एवं संजय कुमार सिंह के साथ मिलकर इस पूरे घटना क्रम को अंजाम देना बताया गया। जिस पर घटना में संलिप्त कपिल कुमार एवं संजय सिंह ठाकुर को भी पकड़ा गया।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button