होम आइसोलेशन का उल्लंघन, 19 पर होगी जुर्म दर्ज, मंत्री चौबे बोले-पैनिक होने की जरूरत नहीं

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण बेकाबू होने के साथ ही प्रशासनिक सख्ती बढ़ने लगी है। रायपुर जिला प्रशासन ने ऐसे 19 लोगों को चिन्हित किया है, जो होम आइसोलेशन का उल्लंघन करते पाए गए हैं। इन लोगों पर महामारी कानून के तहत FIR कराने की तैयारी है। इधर, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा- अभी यह संक्रमण सामान्य सर्दी-खांसी जैसा ही दिख रहा है। लोगों को पैनिक होने अथवा दहशत में आने की जरूरत नहीं है।
रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार ने शुक्रवार को नोडल अधिकारियों के साथ हालात की समीक्षा की। इस दौरान बताया गया कि अभी भी बहुत से लोग बिना मास्क लगाए घूम रहे हैं। कई लोगों ने कोरोना पॉजिटिव आने के बाद भी होम आइसोलेशन के लिए पंजीयन नहीं करा रहे हैं। जांच के समय गलत पता और मोबाइल नंबर दर्ज कराया है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। कलेक्टर ने ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। बताया जा रहा है, रायपुर, आरंग, तिल्दा और अभनपुर के ऐसे 19 लोगों को चिन्हित किया गया है। अब उन पर महामारी कानून के अलावा IPC की धाराओं में FIR कराई जाएगी।
इस बीच रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा, व्यापक संक्रमण होने के बावजूद भी अभी लोग हॉस्पिटल नहीं जा रहे हैं। इसका मतलब है कि इसमें पैनिक होने की कोई जरूरत नहीं है। दहशत में आने की जरूरत नहीं है। चौबे ने कहा, बेहद साधारण सर्दी-खांसी जैसा यह संक्रमण दिख रहा है। मैं समझता हूं कि जितनी जल्दी आया है उतनी ही जल्दी चला भी जाएगा।

कृषि मंत्री ने कहा, पिछले दिनों रायपुर जिले के हालात की समीक्षा की थी। लोगों को हॉस्पिटलाइज्ड कम हो रहे हैं। ऑक्सीजन बेड की जरूरत ही नहीं पड़ रही है। वेंटिलेटर का तो सवाल ही पैदा नहीं हो रहा। चौबे ने कहा, जो लोग खुद जांच कर संतुष्ट हो रहे हैं तो उसपर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लगाना चाहता। कोरोना के प्रोटोकॉल का सबको पालन करना चाहिए।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button