सनातन पर टिप्पणी को लेकर इंडिया मौन क्यों : राजनाथ सिंह

जैसलमेर . रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सनातन धर्म पर द्रमुक नेता उदयनिधि स्टालिन की टिप्पणी को लेकर विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ पर हमला बोला. उन्होंने सोमवार को कहा कि गठबंधन में शामिल लोगों को सनातन धर्म के अपमान के लिए क्षमा मांगनी चाहिए. उन्होंने सवाल किया कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अशोक गहलोत जैसे कांग्रेस नेता इस मुद्दे पर मौन क्यों हैं.

भाजपा की परिवर्तन यात्रा के तीसरे चक्र की शुरुआत के दौरान उन्होंने कहा कि द्रमुक ने सनातन धर्म को चोट पहुंचाई, लेकिन कांग्रेस चुप्पी साधे है. उन्होंने कहा, मैं अशोक गहलोत से कहना चाहता हूं, आप क्यों नहीं बोलते. क्यों नहीं सोनिया बोलतीं, क्यों नहीं राहुल बोलते हैं. क्यों नहीं खड़गे बोलते कि सनातन धर्म के बारे में आपकी सोच क्या है. रक्षा मंत्री ने कहा,सनातन धर्म को सिर्फ धर्म के साथ जोड़कर नहीं देख सकते. यह सनातन सदैव नूतन, चिर पुरातन है. न इसका कोई जन्म है, न अंत है. यह सनातन धर्म पूरे विश्व को अपना परिवार मानता है. वसुधैव कुटुंबकम का संदेश यदि कोई धर्म देता है, तो यह सनातन धर्म ही देता है.

राजनाथ सिंह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि चंद्रयान तो चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर सफलतापूर्वक उतर गया, लेकिन ‘राहुलयान’ न तो लॉन्च हो सका और न ही लैंड कर सका. उन्होंने राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चालक की सीट पर बैठे हैं, लेकिन ‘क्लच’ कोई अन्य व्यक्ति दबा रहा है तो गाड़ी का एक्सीलेटर कोई और दबा रहा है.

विपक्ष की हार तय राजनाथ सिंह ने कहा कि इंडिया नाम बहुत खतरनाक है. हम लोगों ने भी एक बार ‘शाइनिंग इंडिया’ का नारा दिया था, हम लोग हार गए थे और विपक्षी दलों ने यदि इंडिया का गठन कर लिया है, तो आपकी हार तय है.

विपक्ष की बैठक में तय किया एजेंडा मेघवाल

केंद्रीय विधि व न्याय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा और कांग्रेस से पूछा कि क्या इंडिया गठबंधन ने सनातन धर्म के खिलाफ अपने एजेंडे को अंतिम रूप देने और उसे पूरे देश में समाप्त करने के लिए मुंबई में बैठक की थी. उन्होंने कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल पर आरोप लगाते हुए कहा, क्या यह आपकी मोहब्बत की दुकान है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button