बजट में महिलाओं की उपेक्षा: फूलों देवी नेताम

बजट में बेलगाम महंगाई का उल्लेख तक नहीं

गरीबों अौर किसानों के उत्थान की कोई योजना नहीं .

रायपुर। राज्यसभा सांसद एवं महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती फूलों देवी नेताम ने बजट को बेहद दिशाहीन और उद्देश्यविहीन बताते हुए कहा कि इसमें रोजगार बढ़ाने, किसानों तथा गरीबों के उत्थान की कोई योजना नहीं है. निराशा भरा रहा बजट से किसानों को PM किसान निधि में इजाफे की उम्म्मीद थी लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी.बजट में फसलों की खरीद MSP दिए जाने का कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया.सैलरीड क्लास को बहुत मायूस किया है,न टैक्स स्लैब में बदलाव किया और न ही टैक्स छूट के दायरे को ही बढ़ाया.महिलाओं को बहुत आशा था कि महंगाई से राहत के लिये कुछ घोषणा करेंगे लेकिन महंगाई से राहत दिलाने के लिये केन्द्र बजट में कुछ भी नहीं। 2014 से पहले महंगाई पर बड़े बड़े वादे करने वाले के बजट पर बेलगाम महंगाई पर एक शब्द नहीं। पेट्रोल डीजल में भी कोई एक्ससाइज ड्यूटी घटाने का बजट में जिक्र नहीं जबकि महंगाई की जड़ यहीं से निकलती है केन्द्र सरकार के दूरदर्शिता की कमी के कारण गैस सिलेंडर के दाम 1000 रूपये हो गये है.पेट्रोल डीजल 100 के पार तो भी मोदी सरकार के बजट में कोई राहत नहीं .केन्द्र सरकार युवाओं, गरीबों, किसानों और छोटे तथा मझौले उद्यमों के लिए केवल खोखले वादे कर रही है और बजट में इनके लिए कुछ भी ठोस नहीं किया गया है। फूलों देवी नेताम ने कहा कि बजट में इन वर्गों को फायदा पहुंचाने की कोई योजना नहीं दी गई है, न ही इसमें निजी निवेश आकर्षित करने की कोई बात कही गई है। 2017 -18 के बजट में किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने की बात कही तो उसका क्या हुआ. पिछले वादे रहे अधूरे ये वाले भी नही होगें पूरे.केन्द्रीय बजट निराशावादी बजट है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button