सोनम श्रीवास्तव को सिल्वर कैटेगरी इनिग्मा मिसेज एशिया 2022 के रूप में सम्मानित

रायपुर. एक बार फिर इनिग्मा इवेंट मैनेजमेंट कंपनी ने 19 अगस्त 2022 को पटाया थाईलैंड में प्रतिष्ठित मिस एंड मिसेज यूनिवर्स पेजेंट का सफलतापूर्वक आयोजन करके एक और मील का पत्थर हासिल किया है.

 मिस/मिसेज यूनिवर्स, वर्ल्ड, एशिया और इंडिया इंटरनेशनल के खिताब उन प्रतियोगियों को प्रदान दिए गए, जिनका प्रतिनिधित्व दुनिया भर से किया गया था. मिस एंड मिसेज कैटेगरी में दुनिया भर से कुल 25 प्रतिभागी थे, जिनमें से श्रीमती सोनम श्रीवास्तव को सिल्वर कैटेगरी इनिग्मा मिसेज एशिया 2022 के रूप में सम्मानित किया गया.

क्या कहती है सोनम

Aamaadmi Patrika
Aamaadmi Patrika
Aamaadmi Patrika

वे कहती है कि मेरी कहानी थोड़ी अलग है बचपन से ही मुझे पढ़ाई में बहुत रुचि रही है पढ़ाई के साथ साथ डांस म्यूजिक एक्टिंग का भी शौक रहा मैंने कई इंटर स्कूल इंटर स्टेट कंपटीशन में भी भाग लिया व विजेता रही क्योंकि शादी जल्दी हो गई और उसके बाद जिम्मेदारियां मैंने सारी पढ़ाई शादी के बाद की और अभी भी मैं पढ़ रही हूं मैं जब आठवीं कक्षा में थी तब मैंने देखा कि मेरे आस-पास बहुत सी ऐसी बच्चियां थी जिनको वह माहौल वैसे एजुकेशन नहीं मिल पा रहा था तो मैंने सोचा क्यों ना मैं घर में ही पढ़ाना शुरू कर दो तो मैं तब से अब तक निरंतर पढ़ना और पढ़ाना जारी है.

शादी के बाद कभी खुद के लिए ज्यादा सोचा नहीं था बस मैंने पढ़ाई नहीं छोड़ी और 29 साल की उम्र में प्रचार के रूप में पदस्थ हुई उसके बाद 3 साल कोविड-19 निकल गया मैंने रजिस्ट्रेशन करवाया था एक विजिट ब्यूटी पेजेंट के लिए मुझे लगा कि भागदौड़ सब जिम्मेदारी आने वाली कुछ थोड़ा खुद के लिए भी किया जाए अचानक से कोविड-19 एजेंट पोस्टपोन हो गया और पिछले वर्ष 2021 में अप्रैल की भीषण गर्मी में जब कोरोना पिक प्रथा तब मैं घर पर ही 38% जल गई बहुत ही बुरा समय था अस्पताल में डॉक्टर भी नहीं देख रहे थे और वह गर्मी की जलन और जलने की जलन शारीरिक रूप से मानसिक रूप से बहुत ही भयानक अवस्था थी मेरे मन से सारे सपने एक पल में चकनाचूर हो गए थे हमेशा से सब कहते थे कि आप बहुत फोटोजेनिक हो वह बहुत अच्छे दिखते हो कभी फिल्मों में ट्राई करिए पर मुझे ग्लैमर की दुनिया में इतना आकर्षण शुरू से ही नहीं था मेरा बस एक ही सपना था कि कुछ अलग करना है जिससे मैं समाज के लोगों के प्रति अपने समाज अपने देश और स्पेशली मैं बच्चियों के लिए लड़कियों के लिए महिलाओं के लिए कुछ करना चाहती थी तो मुझे लगा एक प्राचार्य होते हुए एक शादीशुदा महिला होते हुए घर परिवार काम करते हुए अगर मैं कुछ अलग कर पाए तो लोगों के लिए भी एक मिसाल होगी लोग और अपना भी एक नाम होगा पर विधाता को शायद कुछ और ही मंजूर था मैं बहुत ही डिप्रेशन में जा रही थी पता चला कि अगस्त में होने वाला है वेट गेन कर लिया था क्योंकि मैं बेड रेस्ट पर थी हिम्मत भी नहीं हो रही थी पर लगा ठीक है अब जो होगा देखा जाएगा तो जो उनकी शो के डायरेक्टर थी उन्होंने मुझे बोला कि तू आ जाओ कोई दिक्कत नहीं है जरूरी नहीं है कि छोटे कपड़े पहनना है जिसमें कंफर्टेबल कपड़े पहनना. उसके बाद मैंने वह कंपटीशन किया उसमें भी कई राउंड हुए टैलेंट राउंड हुआ हमारा आई क्यू हुआ वर्क हुई सब कुछ हुआ और जब परिणाम घोषित हुआ तब लगा जैसे रातो रात में स्टार बन गई हूं मिसेज  ब्यूटी आइकन ऑफ इंडिया सोनम श्रीवास्तव. उस खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं था उसके बाद मुझे काफी संस्थाओं से सम्मान भी प्राप्त हुआ क्योंकि मैं प्राचार्य भी थी मुझे शिक्षाविद सम्मान नारी शक्ति सम्मान प्रेरणा सम्मान ऐसे कई सम्मान प्राप्त हुए मेरा जो मोटिवेशन था अपने लिए ही वह काफी बढ़ गया और मैंने दिल्ली के कंपटीशन में भाग लिया जो एक छोटे से कस्बे में रहने वाली महिला के लिए शत सोचना भी बहुत बड़ा सपना था मेरा वहां जाकर मैंने अपना हंड्रेड परसेंट दिया और विजेता रही मिसेज इंडिया आने के बाद मुख्यमंत्री द्वारा भी शुभकामनाएं दी गई उनसे भेंट के बाद लगा अब रुकना नहीं है मेरी इच्छा है कि मेरे क्षेत्र की छत्तीसगढ़ की हर लड़की हर महिला हमारे देश की हर लड़की हर महिला मैं बहुत कुछ छुपा हुआ है .

इसी बीच मैंने एक छत्तीसगढ़ी टीम के पेशेंट में भी भाग लिया था और उस नीच मुझे करो ना हो गया और बदल गया फिर वह हुआ मार्च 2022 में और उसकी भी मैं विजेता रही मिसेज छत्तीसगढ़ 2022.

इस बीच मैंने कई बच्चों को पढ़ाया भी प्रेरित भी किया और मुझे लगा अब हमारे क्षेत्र से बाहर निकल कर कुछ करने का समय है कि मैं 7 महीनों में 3 पेज एंड जीत चुकी थी मुझे मन था कि इंटरनेशनल मुझे करना है तो मैंने यह थाईलैंड में हो रही इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भाग लिया और मिसेस एशिया की विजेता रही.

Related Articles

Back to top button