छत्तीसगढ़

घोलेंग की महिलाएं तैयार कर रही महुआ के लड्डू

रायपुर. वनांचल की महिलाएं भी अपने मनपसंद स्व-रोजगार से जुड़कर आर्थिक लाभ ले रहीं है. जशपुर जिले के घोलेंग स्व-सहायता समूह की महिलाएं महुआ से स्वादिष्ट लड्डू तैयार करके ऑनलाईन विक्रय कर रही हैं. महिलाओं के हाथों से स्वादिष्ट आरोग्य महुआ लड्डू घर बैठे vedicvatica.org&amazon.in   ऑनलाईन के माध्यम से प्राप्त कर सकते है. बच्चों के लिए सर्वोत्तम एवं कुपोषण से लड़ने में लाभकारी भी हैं.

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए गांव-गांव में महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क (रीपा) की शुरूआत की गई. जशपुर में महुआ, चार, चिरौंजी, साल-सागौन एवं अन्य वन सम्पदा से भरपूर मात्रा में पाया जाता है. पहले महुआ का उपयोग शराब बनाने के लिए किया जाता था, लेकिन अब महुआ से स्वादिष्ट लड्डू, कुकीज, बिस्कीट एवं अन्य खाद्य साम्रगी तैयार की  जा रही है. सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद रहता है. जशुपर में तैयार महुआ लड्डू की खाशियत यह है कि आरोग्य महुआ लड्डू, जंगली महुआ फूल, देशी घी और गुड़, गोंद और अश्वगंधा से तैयार किया जा रहा है. एक पैकेट में 15 नग महुआ पैकिंग किया जाता है, यह शुगर फ्री होता है. इसका मूल्य 255 रूपए निर्धारित किया गया है.

युवा वैज्ञानिक समर्थ जैन ने बताया कि महुआ लड्डू के फायदे अनेक है आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज, जिंक, कोबाल्ट जैसे अन्य सूक्ष्म पोषक तत्वों का समृद्ध स्रोत है. यह रक्त में ग्लूकोज की अचानक वृद्धि को रोकने में मदद करता है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button